अपडेट

जानिए किसे मिला इस बार के एशिया का ‘नोबेल पुरस्कार’!

 दो भारतीयों के नाम शामिल। सोनम वांगचुक और भारत वातनानी होंगे सम्मानित
 
नई दिल्ली। इस साल के रेमन मैग्सेसे अवार्ड का ऐलान कर दिया गया है। मैग्सेसे पुरस्कार को एशिया का नोबेल पुरस्कार भी कहा जाता है। अक्सर इस पुरस्कार को हासिल करने वालों में भारतीय लोगों का नाम भी शामिल होता है। इसी तरह इस साल के रेमन मैग्सेस पुरस्कार की लिस्ट में दो भारतीयों का नाम भी है। जिनमें फिल्म थ्री ईडियट्स फिल्म के प्रेरणास्रोत सोनम वांगचुक और मानसिक रूप से बीमार लोगों की मदद करने वाले भारत वातनानी यह अवार्ड पाने वालों में प्रमुख हैं। उन्हें आगामी 31 अगस्त को मनीला में पुरस्कार दिया जाएगा।
 गौरतलब है कि यह पुरस्कार छह लोगों को दिया जाता है, विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य और योगदान देने वाली शख्सियतों को यह अवार्ड दिया जाता है। भारत की ओर से भारत और सोनम ने बेहतरीन सामाजिक कार्य कर दुनिया की नजर अपनी ओर खींची थी। यह पुरस्कार उनके कार्य का सम्मान है।
यहां बता दें कि भारत वातनानी पिछले लंबे समय से मानसिक रूप से बीमार गरीब लोगों की मदद में जुटे हैं। उन्होंने इस तरह के परेशान लोगों के इलाज में अहम भूमिका निभाई है। जबकि सोनम वांगचुक जो कि भारत में एक जाना-पहचाना नाम हैं। उनके कार्यों के आधार पर आमिर खान अभिनीत फिल्म थ्री ईडियट्स भी बनाई गई थी। वांगचुक कई बार भारत में टीवी शो का हिस्सा बन चुके हैं। जो मुख्य तौर पर शिक्षा, संस्कृति और पर्यावरण के क्षेत्र में काम करते हैं।
गौरतलब है कि मैग्सेसे पुरस्कार की शुरुआत वर्ष 1957 में हुई थी। यह अवार्ड फिलीपींस के राष्ट्रपति की एक विमान दुर्घटना में मौत के बाद शुरू हुआ था।
 ट्वीट..

This is Greatness of Spirit.
This is Asia.https://t.co/2vcSgBJzm0https://t.co/13iyCweLbi#TheRamonMagsaysayAward pic.twitter.com/A4dwJ14Su4

— RamonMagsaysayAward (@rmafoundation) July 26, 2018

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *