peasants, agitation, in cities vegetable and milk crisis started
अपडेट

किसान आंदोलन: गांवों से नहीं आ रही फल-सब्जियां और दूध, दामों में इजाफा

नई दिल्ली। कई राज्यों में चल रहा किसान आंदोलन चौथे दिन भी जारी है। किसानों के आंदोलन के चलते शहरों में फल-सब्जियों और दूध के दाम में इजाफा हो गया है। किसान स्वामीनाथन कमीशन की सिफारिश लागू करने, कर्ज माफी सहित अन्य मांगों को लेकर हड़ताल पर हैं।

राजस्थान में किसान आंदोलन के कारण शहरों में सब्जियों और दूध की आपूर्ति पर असर पड़ा है। राजधानी जयपुर में अधिकांश मंडियों में सब्जियों की आवक कम होने से लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

पंजाब और हरियाणा में किसानों ने  रविवार को सड़कों पर अपनी उपज फेंकी। मंडियों में सब्जियां और दूध न आने के कारण इनके भाव आसमान छूने लगे हैं। शहरों में दूध 60-70 रुपये प्रति किलो बिकने लगा है। वहीं सब्जियां भी दुगने तिगुने भाव पर बिक रही है। दुकानदारों ने चाय के दाम बढ़ा दिए हैं।

पश्चिम यूपी में किसानों ने रविवार को जोरदार प्रदर्शन किया। मेरठ में शनिवार को पहली बार किसानों ने कमिशनरी चौराहे पर सब्जी बिखेर दी। उधर कुमाऊं के बाजपुर में लगातार तीसरे दिन दूध बहाया गया। मुरादाबाद के अमरोहा में किसानों ने गुस्से में सड़कों पर टमाटर फेंके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *