Mayawati vacated a bungalow, key sent by speed post
अपडेट

मायावती ने खाली किया एक बंगला, स्पीड पोस्ट से भेजी चाभी

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद कई पूर्व मुख्यमंत्री सरकारी बंगलों पर काबिज हैं। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव और अखिलेश यादव ने कुछ और समय की मोहलत मांगने के लिए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। उधर बसपा अध्यक्ष मायावती ने बतौर पूर्व मुख्यमंत्री आवंटित लाल बहादुर शास्त्री मार्ग पर बंगला नं.-6 छोड़ दिया है। राज्य संपत्ति विभाग द्वारा इसे लेने से इनकार करने पर उनके निजी सचिव मेवालाल गौतम ने बंगला खाली करने का पत्र और चाभी स्पीड पोस्ट से भेज दी। इससे यह साफ है कि मायावती 13-ए माल एवेन्यू पर बने कांशीराम जी यादगार विश्राम स्थल नहीं छोड़ेंगी।
राज्य संपत्ति विभाग ने पूर्व मुख्यमंत्री की हैसियत से 23 दिसंबर 2011 को यह बंगला उन्हें आवंटित किया था। इस बंगले में वह कभी कभार ही जाती रही हैं। अधिकतर वह 13-ए माल एवेन्यू पर बने ‘कांशीराम जी यादगार विश्राम स्थल’ पर ही रहती हैं।
मायावती के निजी सचिव गौतम ने बताया कि राज्य संपत्ति अधिकारी के यहां जब बंगला छोड़ने का पत्र और चाभी भेजी गई तो इन्हें यह कहते हुए वापस कर दिया गया कि अवर अभियंता सिविल अनुरक्षण खंड-2 लोक निर्माण विभाग लेंगे। इसके बाद बंगला खाली करने का पत्र और चाभी स्पीड पोस्ट से भेज दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *