Karnataka-yediyurappa- political drama
अपडेट

येदियुरप्पा इस फारमूला पर साबित कर सकते हैं बहुमत

नई दिल्ली। कर्नाटक में किसी भी दल को बहुमत नहीं मिला है मगर बीजेपी को सबसे ज्यादा सीटें मिली हैं। वह 104 सीट जीतकर सबसे बड़ी पार्टी बनी है। राज्यपाल वजुभाई वाला नेे बीएस येदियुरप्पा को सरकार बनाने का न्यौता दिया था। इसके खिलाफ कांग्रेस और जेडीएस ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटा। कोर्ट ने येदियुरप्पा को बहुमत साबित करने के लिए दी गई 15 दिन की समय सीमा को घटाकर शनिवार चार बजे तक कर दिया है। हालांकि येदियुरप्पा का दावा है कि वह कि बहुमत साबित कर देंगे।
224 सदस्यीय विधानसभा में फिलहाल 221 विधायक चुनकर आए हैं। दो सीटों पर चुनाव नहीं हुआ है जबकि जेडीएस नेता कुमारस्वामी दो सीट से चुनाव जीते हैं। बीजेपी के पास 104 सीटें हैं जबकि कांग्रेस को 78 और जेडीएस को 37 सीटें मिली हैं। बीजेपी को बहुमत साबित करने के लिए 111 वोट चाहिए यह संख्या तब पूरी हो सकती है जब कांग्रेस या फिर जेडीएस के दो तिहाई विधायक टूटकर भाजपा में आएं। मगर इसके आसार कम ही हैं। भाजपा के लिए दूसरा विकल्प बचता है विधायकों के अनुपस्थित रहने का। कांग्रेस और जेडीएस से 13 विधायक शक्ति परीक्षण के दौरान अनुपस्थित रहें। इससे सदन की संख्या कम हो जाएगी और बीजेपी के लिए बहुमत साबित करना आसान हो जाएगा।
शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में बीजेपी की तरफ से जिरह करते हुए वरिष्ठ वकील मुकुल रोहतगी ने कहा कि येदियुरप्पा ने सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते सरकार बनाने का दावा पेश किया है। इसे चुनौती देने वाले याचिकाकर्ताओं के वकील अभिषेक मनु सिंघवी का कहना था कि राज्यपाल को कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन को सरकार बनाने के लिए बुलाना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *