अपडेट विविध

अब रांची में बनेगा शंघाई की तर्ज पर आसमान छूता टावर!

झारखंड की राजधानी रांची में बनेगा शंघाई की तरह टावर। फूड प्रोसेसिंग के विकास के लिए चीन की ओर से मिलेगी मदद। झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास पांच दिवसीय दौरे पर पहुंचे हैं चीन। 
 By Anil Azad Pandey, Beijing
शायद आपने शंघाई में मौजूद गगनचुंबी टावर देखा होगा या उसके बारे में कहीं न्यूज पढ़ी होगी या फिर वीडियो देखा होगा। लेकिन अब इंडिया में भी शंघाई टावर की तरह टावर का निर्माण होने वाला है। जानकर आप भी चौंक जाएंगे यह टावर दिल्ली, मुंबई या चेन्नई में नहीं बल्कि झारखंड की राजधानी रांची में बनेगा। झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने खुद यह बात लेखक को दिए इंटरव्यू में कही। पांच दिवसीय दौरे पर चीन पहुंचे रघुवर दास ने बताया कि उनका फोकस राज्य में पर्यटन को बढ़ावा देने पर है। इसते तहत रांची में लगभग 63 करोड़ की लागत से टावर बनाया जाएगा। साथ ही बोधगया से लगभग 60 किमी.दूर इटखोरी में विशाल वौद्ध स्तूप भी स्थापित किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि, झारखंड में पर्यटन और कृषि आदि के क्षेत्र में विकास की काफी संभावनाएं हैं। वह चाहते हैं कि चीनी पर्यटक बिहार के बाद झाऱखंड भी पहुंचें। क्योंकि झारखंड में भी बौद्ध धर्म की जड़ें बहुत गहरी हैं। पर्यटन के जरिए राज्य की आमदनी में भारी इजाफा हो सकता है।
 
मुख्यमंत्री ने कहा कि, चीन सरकार ने झारखंड में फूड प्रोसेसिंग इंडस्ट्री के विकास के लिए तकनीकी सहायता देने का वादा किया है। झारखंड में नवंबर में आयोजित होने वाले ग्लोबल फ़ूड प्रोसेसिंग फ़ेयर में चीन को कंट्री पार्ट्नर बनाए जाने का फैसला भी किया गया है।
मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि झारखंड 8.2 फीसदी की दर से विकास कर रहा है। ग्रोथ के मामले में गुजरात देश का नंबर वन राज्य है। बकौल रघुवर झारखंड में विकास की तमाम संभावनाएं हैं, इसके लिए उन्होंने अधिक से अधिक चीनी कंपनियों को अपने राज्य में आने का न्योता भी दिया। उन्होंने कहा कि झारखंड सरकार के पास पर्याप्त जमीन है, ऐसे में किसी प्लांट या कंपनी की स्थापना के लिए कोई समस्या नहीं आएगी।
इससे पहले रघुवर दास और उनके साथ आए प्रतिनिधिमंडल ने शंघाई का दौरा किया। साथ ही बीजिंग में सीपीसी इंटरनेशनल डिपार्टमेंट के मंत्री सोंग थाव और सीपीसी पब्लिसिटी डिपार्टमेंट के प्रमुख हुआंग खोंगमिंग से मुलाकात की। बातचीत के दौरान पक्षों ने भारतीय जनता पार्टी और चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के बीच पार्टी स्तरीय आदान-प्रदान बढ़ाने पर भी चर्चा की। चीन के विकास से बेहद प्रभावित रघुवर दास ने कहा कि वह झारखंड के विकास में कोई कमी नहीं छोड़ना चाहते हैं। इसके लिए विदेशों से भी मदद ली जाएगी। उन्होंने कहा कि चीन ने तेज विकास किया है, हमें उनसे सीखने में कोई परेशानी नहीं है।
 गौरतलब है कि मुख्यमंत्री के साथ ग्रामीण विकास मंत्री नीलकंठ सिंह मुंडा, भू-राजस्व मंत्री अमर कुमार बौरी, डिवेलपमेंट कमिश्नर डीके तिवारी, मुख्यमंत्री के मुख्य सचिव सुनील कुमार बर्नवाल और मुख्यमंत्री के सीनियर पीएस अंजन सरकार आदि भी चीन पहुंचे हैं। मुख्यमंत्री और उनके साथ आया प्रतिनिधिमंडल कल बुधवार को हनान प्रांत के चंगचो जाएगा। वहां फूड प्रोसेसिंग प्लांट्स और तकनीक की विस्तृत जानकारी हासिल की जाएगी। उम्मीद है कि हनान की संबंधित कंपनियां झारखंड को फूड प्रोसेसिंग के लिए जरूरी मदद देने के लिए आगे आएंगी।
The writer is a senior journalist and working in China Radio International, previously worked with the prominent Indian Newspapers.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *