अपडेट स्पोर्ट्स

चीन को ड्रॉ पर रोककर भारत ने जीता दिल, 21 साल बाद हुई दोनों की भिड़ंत…

भारत और चीन के बीच शनिवार को एशिया कप की तैयारी के संदर्भ में फ्रेंडली फुटबाल मैच खेला गया । इससे पहले 1997 में नेहरू कप के दौरान दोनों टीमों का मुकाबला हुआ था।

भारत और चीन के बीच अब तक खेले गए हैं 18 मैच। इनमें से 12 में चीन को हुई जीत हासिल, 6 मुकाबले बराबरी पर हुए खत्म।  

भारतीय कोच कोंस्टेनटाइन ने कहा, भारत को हराना बहुत मुश्किल, युवा खिलाड़ियों से सज़ी टीम की तारीफ के पुल बांधे।

 सूचोउ। भारत और चीन की फुटबाल टीमों के बीच 21 साल बाद शनिवार को पहली बार कोई मुकाबला खेला गया। चीन के सूचोउ में दर्शकों से खचाखच भरे ओलंपिक स्टेडियम में लगभग 96 मिनट तक चले एक रोमांचक दोस्ताना मैच में दोनों टीमें कोई गोल नहीं कर सकीं। इस तरह मैच 0-0 की बराबरी पर खत्म हुआ।

चीनी खिलाड़ियों ने भारत के खिलाफ गोल करने की तमाम कोशिशें की। चीन को एक दर्जन से अधिक पैनल्टी कॉर्नर मिले। लेकिन वे भारत के मजबूत डिफेंस को नहीं भेद सके। भारत के युवा गोलकीपर गुरप्रीत सिंह संधू ने शानदार प्रदर्शन करते हुए एक बार भी बॉल को गोलपोस्ट में नहीं जाने दिया। इससे पहले पहले हाफ की शुरुआत में 13वें मिनट के दौरान भारत के प्रीतम कोटल ने गोल करने का बेहतरीन मौका गंवाया। जबकि स्टार खिलाड़ी सुनील छेत्री भी मैच के अंतिम क्षणों में अनिरुद्ध थापा की फ्री किक को गोल में तब्दील नहीं कर सके। जबकि चीन की तरफ से काव लिन ने गोल करने के कई मूव बनाए, लेकिन एक भी गोल नहीं हो सका।

मैच में जहां चीनी खिलाड़ी लाल जर्सी में नजर आए, वहीं भारतीय खिलाड़ी नीली पोशाक में थे।इससे पहले इन दो एशियाई पड़ोसी देशों के बीच 1997 में नेहरू कप के दौरान भिड़ंत हुई थी, वह मैच भी ड्रा रहा था।

मैच के बाद भारतीय टीम के कोच स्टीफन कोंस्टेनटाइन ने कहा, भले ही भारतीय टीम अन्य बड़ी एशियाई टीमों के स्तर की न हो। लेकिन हमें हराना बहुत मुश्किल रहा है। पिछले चार वर्षों के दौरान हमने दिखाया है कि हमारे खिलाफ जीत हासिल करना आसान नहीं रहा है। आज चीन के खिलाफ मुकाबला गोलरहित लेकिन रोमांचक रहा। भारत के कई खिलाड़ी युवा हैं, आज मैदान में उतरे 5 प्लेयर अंडर-23 की ओर से खेलते हैं। यहां बता दें कि भारत और चीन के बीच यह मैच एशिया कप की तैयारी के संदर्भ में खेला गया था।

गौरतलब है कि भारत और चीन के बीच अब तक 18 मैच खेले गए हैं। इनमें से 12 में चीन ने जीत हासिल की है, जबकि 6 मुकाबले बराबरी पर खत्म हुए हैं।

अगर फीफा वर्ल्ड रैंकिंग की बात करें तो भारत चीन से बहुत नीचे हैं। जहां रैंकिंग में चीन 76वें नंबर पर हैं, वहीं इंडिया 97वें पायदान पर है।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *