Dead_body_of_woman_was_lying_in_house_for_four_days
अपडेट

मां न खा रही है और न ही बोल रही, पहले लोगों ने उस पर यकीन नहीं किया, भीतर गए तो होश उड़ गए

रुड़की। रुड़की में मानसिक रूप से दिव्यांग बेटा चार दिन तक अपनी मां के शव के साथ रहा। वह लोगों से कहता रहा कि उसकी मां न तो खा रही है और न ही बोल रही है। मगर उसकी बात को किसी ने तवज्जो नहीं दी। बुधवार को वह जिद कर कुछ लोगों को अंदर ले गया तो उनके होश उड़ गए। अंदर बुजुर्ग महिला का शव पड़ा था। महिला की चार दिन पहले ही मौत हो चुकी थी। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्पमार्टम के लिए भेज दिया है।

गंगनहर कोतवाली क्षेत्र के अंबर तालाब में जटियों वाले मोहल्ले में 80 वर्षीय सरोज अपने दो बेटों के साथ रहती थी। इन दिनों घर पर उसका दिव्यांग बेटा ही था, दूसरा बेटा बाहर गया है। महिला का दिव्यांग बेटा तीन-चार दिन से लोगों से कह रहा था कि उसकी मां उठ नहीं रही है। उसने खाना भी नहीं खाया है और बोल भी नहीं रही है। पहले लोगों ने उसकी बात पर यकीन नहीं किया। उसकी जिद पर बुधवार को कुछ लोग भीतर गए तो वृद्धा की लाश पड़ी थी। गंगनहर इंस्पेक्टर कमल कुमार लुंठी ने बताया कि महिला कुछ समय से बीमार थी। उसकी मौत तीन-चार दिन पहले हो गयी। लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। महिला का एक और बेटा भी है। पुलिस उसके आने का इंतजार कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *