अपडेट

वरिष्ठ वकील राम जेठमलानी भी कूदे कर्नाटक के नाटक में!

नई दिल्ली। कर्नाटक विधानसभा का रण अब  सुप्रीम कोर्ट बन चुका है, राजनीतिक दांव पेंच अब सुप्रीम कोर्ट में लड़ा जाएगा। सुप्रीम कोर्ट में कांग्रेस और जेडीएस के संयुक्त अर्जी के बाद अब वरिष्ठ वकील और राज्यसभा सांसद राम जेठमलानी भी गुरुवार को इस लड़ाई में कूद पड़े हैं। जेठमलानी ने राज्यपाल के फैसले को संवैधानिक शक्ति का दुरुपयोग बताया है। जेठमलानी ने कोर्ट में अर्जी लगाते हुए कहा, ‘मैं इस मामले में व्यक्तिगत तौर पर अपना पक्ष रखना चाहता हूं। इस पर कोर्ट को संज्ञान लेना चाहिए। मैं निजी तौर पर आया हूं किसी पार्टी के तरफ से नहीं आया।’
जेठमलानी ने कर्नाटक की राजनीति पर कहा, आखिर भाजपा ने राज्यपाल से ऐसा क्या कहा कि उसने इस तरह का बचकाना कदम उठाया? राज्यपाल का आदेश भ्रष्टाचार को एक खुला निमंत्रण है। जेठमलानी ने राज्यपाल द्वारा येदियुरप्पा को सरकार बनाने का निमंत्रण देने के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *